Malini Awasthi singing Bidai song Nimiya ke Ped, with lyrics

बाबा निमिया के पेड़ जिनि काटियो रे, निमिया पे चिरैया के बसेरे,

बलैंया लेहुं भैया के

बाबा सगरी चिरैया उड़ि जैहे

रहि ज‍इ निमिया अकेलि

बलैया लेहुं भैया के

बाबा सगरी बिटिया घरि चले ज‍इहे

माई रहि जाये अकेलि

बलैया लेहुं भैया की




blog comments powered by Disqus



How to rekindle the sense of wonder?